Indian Evacuation News: Vande Bharat Mission Flight Timings Latest News Day Three Today Updates | Dhaka to Delhi Flights, Flights from Sharjah To Lucknow | खाड़ी देशों से केरल आए दो भारतीय पॉजिटिव, ये जिन विमानों में आए उनमें 9 बच्चों समेत 363 लोग थे

  • मिशन के पहले दो दिन में 7 फ्लाइट आईं, सबसे ज्यादा 4 विमान केरल पहुंचे
  • शनिवार को ढाका से 129 भारतीयों को लेकर पहली फ्लाइट दिल्ली पहुंची
  • शारजाह से 182 भारतीयों को लेकर लखनऊ एयरपोर्ट पहुंची फ्लाइट

दैनिक भास्कर

May 10, 2020, 12:29 AM IST

नई दिल्ली. कोरोनावायरस की वजह से विदेशों में फंसे भारतीयों को लाने के मिशन वंदे भारत का आज तीसरा दिन है। केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने बताया कि मिशन के पहले दिन (7 मई) को खाड़ी देशों से लौटे दो भारतीयों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनमें से एक दुबई से कोझिकोड और दूसरा अबू धाबी से कोच्चि आया था। अबू धाबी से आई पहली फ्लाइट के 181 भारतीयों में से 5 लोगों में कोरोना के लक्षण मिले थे। ये जिन विमानों में आए उनमें 9 बच्चों समेत 363 लोग थे। केरल में कोरोना मरीजों की संख्या 505 हो गई है। इससे पहले मिशन के दूसरे दिन यानी शुक्रवार को 5 उड़ानों से भारतीयों की वापसी हुई।  

शनिवार को पहली फ्लाइट ढाका से आई। यह करीब 3.45 बजे दिल्ली एयरपोर्ट पर लैंड हुई। इसमें 129 लोग आए। इसके बाद रात 8 बजकर 56 मिनट पर दूसरी फ्लाइट शारजाह से लखनऊ एयरपोर्ट पहुंची। इसमें 182 यात्री थे, जिनमें 2 बच्चे हैं। सभी की थर्मल स्क्रीनिंग की गई।

यात्री में संक्रमण के लक्षण मिले, तो टेस्ट करवाएंगे- अधिकारी

देर रात कुवैत से हैदराबाद की एयर इंडिया की फ्लाइट भी लैंड हो गई। इसमें 163 यात्री सवार थे। जबकि कुवैत से एक और एयर इंडिया एक्सप्रेस फ्लाइट 177 भारतीयों को लेकर कोच्चि पहुंची। इनमें 4 बच्चे भी शामिल थे। सायबराबाद कमिश्नरेट के पुलिस कमिश्नर ने कहा, ‘यदि किसी यात्री में कोरोना संक्रमण के लक्षण मिलते हैं तो उसे टेस्ट के लिए राज्य के अस्पताल में भेजा जाएगा।’

देर रात करीब पौने बारह बजे एक विशेष विमान मलेशिया के कुआलालंपुर से त्रिची पहुंचा। इसमें 177 भारतीय सवार थे। सभी की एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग की गई। इसके बाद क्वारैंटाइन सेंटर भेजा जाएगा। इस बीच एक विमान मस्कट से कोच्चि पहुंचा।

कुआलालंपुर से आने वाले यात्रियों की एयरपोर्ट पर ही स्क्रीनिंग भी की गई।

ये 2 फ्लाइट और आएंगी

कहां से आएगीकहां पहुंचेगीपहुंचने का समय
लंदनमुंबईरात 1.30 बजे
दोहाकोच्चिरात 1.40 बजे

(इस शेड्यूल में बदलाव हो सकते हैं)

मिशन का दूसरा पक्ष कार्टूनिस्ट की नजर से

वंदे भारत मिशन से इमरजेंसी वाले लोगों को मदद मिल रही

वंदे भारत मिशन में सरकार बुजुर्गों, गर्भवती महिलाओं, बीमारों या फिर उन लोगों को प्राथमिकता दे रही है जिनके घर में किसी की मौत हो गई है या फिर कोई गंभीर रूप से बीमार है। विदेश में फंसे ऐसे भारतीयों को वंदे भारत मिशन से बड़ा सहारा मिल रहा है। मस्कट से कोच्चि आ रहे एक यात्री ने बोर्डिंग से पहले बताया- “काम के दौरान मेरी आंख में चोट लग गई थी। मस्कट में डॉक्टरों ने ऑपरेशन करने से मना कर दिया, उन्होंने केरल में ऑपरेट करवाने की सलाह दी। मैं भारतीय दूतावास का आभारी हूं कि उन्होंने भारत लौटने में मेरी मदद की।”

यह तस्वीर मस्कट एयरपोर्ट की है, वहां से कोच्चि की फ्लाइट में सवार होने से पहले इस व्यक्ति ने भारतीय दूतावास का आभार जताया।

मस्कट से कोच्चि आ रही एक महिला ने कहा-  मेरी मां आईसीयू में हैं। मैं भारत सरकार और मस्कट में भारतीय दूतावात की आभारी हूं कि उन्होंने भारत लौटने में मदद की।

8 मई को 5 उड़ानों से लोग भारत लौटे
वंदे भारत मिशन के दूसरे दिन यानी 8 मई को पहली फ्लाइट दोपहर 12 बजे दिल्ली पहुंची। इस फ्लाइट में सिंगापुर से 234 लोग आए। दूसरी फ्लाइट ढाका से 167 मेडिकल स्टूडेंट को लेकर श्रीनगर आई। तीसरी फ्लाइट रियाद से 153 लोगों को लेकर कोझिकोड पहुंची। बहरीन से कोच्चि और दुबई से चेन्नई आई उड़ानों में 182-182 लोग आए।

वंदे भारत मिशन के तहत आ रहे भारतीयों को एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग के बाद 14 दिन के सेल्फ क्वारैंटाइन में भेजा जा रहा है।

7 मई को दो उड़ानें आईं
मिशन के पहले दिन यानी 7 मई को पहली फ्लाइट अबू धाबी से 181 भारतीयों को लेकर कोच्चि पहुंची। इनमें से 5 लोगों में कोरोनावायरस के लक्षण दिखने पर उन्हें आइसोलेशन वार्ड में भेज दिया गया। दूसरी फ्लाइट दुबई से 182 यात्रियों को लेकर कोझिकोड आई।

वतन वापसी के मिशन में सरकार बुजुर्गों और गर्भवती महिलाओं को प्राथमिकता दे रही है।

दूसरा फेज 15 मई से शुरू होगा
वंदे भारत मिशन के तहत भारत लौट रहे लोगों को फ्लाइट का किराया और क्वारैंटाइन का खर्च खुद उठाना होगा। पहले फेज में 14 मई तक 12 देशों से 14 हजार 800 भारतीयों को लाने का प्लान है। मिशन का दूसरा फेज 15 मई से शुरू होगा। इस फेज में सेंट्रल एशिया और यूरोपीय देशों जैसे- कजाकिस्तान, उज्बेकिस्तान, रूस, जर्मनी, स्पेन और थाईलैंड से भारतीयों को लाया जाएगा।

मालदीव से 698 लोग समुद्र के रास्ते आ रहे
विदेशों में फंसे भारतीयों को लाने के लिए सरकार ने ऑपरेशन समुद्र सेतु भी शुरू किया है। इसके पहले फेज में नेवी का जहाज आईएनएस जलाश्व मालदीव से 698 लोगों को लेकर शुक्रवार को रवाना हो चुका है। इसके 10 मई को कोच्चि पहुंचने की उम्मीद है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: